Posts

Showing posts from July, 2019
Image
पृथ्वी का निर्माण कैसे हुआ
भोले की भक्ति में सकती 
महाकाल के इतिहास की जानकारी
शिव की चर्चा , भजनावली
1. शिव गुरु की दृष्टि:-
     जिस वक्त श्रवत्र  केवल अंधेरा ही अंधेरा था , नही सूर्य थी न चंद , ग्रहो - नछत्रों का कहीं पता नही था , न दिन होता था न रात । प्रुथ्वी , जल और वायु की भी नामो निशान न था - उस शमय एकमात्र शिव का ही अस्तित्व था , जो अनादि और चिन्मय कहि जाती थी उन्ही भगवान सदाशिव को वेद , पुराण और उपनिषद तथा संत महात्मा ईश्वर कहते हैं ।

       एक बार भगवान शिव के मन मे सृष्टि रचने की इच्छा हुए|उन्होंने सोचा कि मैं एक से अनेक हो जाऊं । सह विचार आते ही सबसे पहले परमेश्वर शिव ने अपनी प्रा सकती से अम्बिका को प्रकट किया तथा उनसे कहा कि हमे सृस्टि  के लिए किसी दुषरे पुरुष का स्रजन करना चाहिये, जिसकी कंधे पर सृस्टि-संचालन का महान भार रखकर हम आनंदपूर्वक विचरण कर सकें । ऐश निश्चय करके सक्ती सहित परमेश्वर शिव ने अपने वाम अंडग के दशवें भाग पर अमृत मल दिया। वहां से तत्काल एक दिव्य प्रकट हुआ । उसका सौंदर्य
अतुलनीय था। उसमें सत्वगुण की प्रधानता थी। वह परम शांत तथा अथाह सागर की तरह गंभीर था। रेशम प…
Image
शिव के हजार नाम । lord shiva name. Bhagwan shiv ke hazar naam भगवान शिव के हज़ारों नाम थे और कई सारे रूप थे जिसमें से हैम आपको 108 नाम बताएंगे । यह नाम अप्सबको भी मालूम होगा भगवान शिव के नाम उनके कर्म के अनुसार रखा गया था । हर नाम का अर्थ नाम के साथ लिखा है । इन नमो के बहुत है बहुमूल्य कीमत ह । आशा है कि आपको यह पसंद आएगी धन्य वाद 
क्या है भगवान शिव के नाम । और क्यों इनका हुवा ये नामकरण। तो ये हैं भगवान शिव के 108 नाम जिनका अर्थ के साथ नीचे उल्लेख किया गया है । भगवान शिव को इन नमो से याद किया जाता है और उनकी पूजन और आरती में भी इन नमो का प्रयोग होगा है । भगवान शिव के कई ऐशी कार्य रही हैं जिनके कारण यह नाम उनके लिए बनाया गया । और देखें भगवान शिव जी के रूप बजरंग बली जी का  hanuman chalisa

● शिव के 108 नाम 1. पिनाकी - पिनाक नामक धनुष को धारण करने वाले । 2. शिव - कल्याण स्वरूप वाले। 3. शम्भू - आनंद मय स्वरूप । 4. महेश्वर - माया के अधिस्वर । 5. सशिशेखर - शिर पर चंद्रमा धारण करने वाले। 6. वामदेव - स्वरूप से सुंदर । 7. विरुपाक्ष - त्रिनेत्र धारी । 8. निलोहित - निल और लाल रंग के । 9. शंकर - क…
Image
Kya bhagwan hote hain ? Agar han to bhagwan kaun hai  bhagwan ? Aur kya hai bhagwan ke hone ka sabut?
क्या भगवान होते हैं ?। अगर हां तो को हैं भगवान?। और इनके होने की क्या सबूत है?। 

कहा जाता है कि इस सृष्टि के रचेता भगवान हैं । और इस पृथ्वी पर मनुष्य का जीवन होना भी भगवान की देन है । हैम जो हवा , पानी लेते हैं उसके वो भी भगवान ने बनाया है । और पृथ्वी पर अन्य जीवों का होना भी भगवान की देन है ।लेकिन वैज्ञानिक के अनुसार यह कहा जाता है कि मनुष्य और अन्य जीवों का पृथ्वी पे होना एक प्राकृतिक घटना है । कर इसमे सारि चीजें प्राकृतिक रूप से आए हैं । और इसमें विज्ञान की देन हैं नाकी भगवान की । क्या है भगवान के होने का सबूत ?Bhagwan ke hone ka sabut | अगर वैज्ञानिक के मुताबिक भगवान नही है । तो उनसे यह पूछिये की ताज महल किसने बनवाया ? वो कहेंगे इंसानो ने तो उनके पास इसका क्या सबूत ह? यही की इतने व्यवस्थित रुप में किसी भी चीज को प्रकृति नही रख सकती । जी हां तब जरा ये सोचिये की हमारे पृथ्वी को इतने व्यवस्थित रूप से किसने रखा? की उसपे मनुष्य का जीवन संभव हो पाया । सूरज से ठीक उतनी ही दूरी पे जा इतनी …